आमतौर पर सर्दियों में हमारी त्वचा नमी खो देती है और रूखी हो जाती है। जानकारों का कहना है कि इससे महिला के गुप्तांग शुष्क और झुलसे हुए लगते हैं। इससे खुजली, बेचैनी, जननांग क्षेत्र में जलन, संभोग के दौरान बेचैनी, जननांग क्षेत्र का लाल होना और मूत्र मार्ग में संक्रमण जैसी समस्याएं हो सकती हैं। लंबे समय तक गर्म पानी से नहाने जैसी चीजें भी त्वचा को रूखा कर सकती हैं और जननांग क्षेत्र में समस्या पैदा कर सकती हैं।

स्त्री रोग विशेषज्ञ बताते हैं कि क्या इस प्रकार की योनि का सूखापन आपके यौन जीवन को प्रभावित कर सकता है

क्या सेक्स लाइफ पर पड़ेगा असर :

प्रसूति रोग विशेषज्ञ के अनुसार सर्दी बहुत तेज होती है। यह महिला जननांग को बहुत प्रभावित करता है। संभोग के दौरान गर्भाशय ग्रीवा में ग्रंथियां स्वाभाविक रूप से चिकनाई होती हैं। गर्भाशय ग्रीवा के प्रवेश द्वार पर स्थित बार्थोलिन ग्रंथियां अधिक नमी पैदा करती हैं। यह सहज संभोग में मदद करता है। लेकिन सर्दियों में योनि ऐसे ही सूख जाती है। तो वहां की प्राकृतिक नमी कम हो जाती है।

इससे सेक्स के दौरान गंभीर समस्या हो सकती है। इसलिए कई महिलाओं को संभोग के दौरान दर्द का अनुभव होता है। इसके लिए आप मॉइश्चराइजर और तेल का इस्तेमाल कर सकते हैं। स्नेहक यौन सुख को बढ़ाने और संभोग के दौरान दर्द को कम करने में मदद करते हैं।

एस्ट्रोजन की कमी या हार्मोन की कमी:

एस्ट्रोजन का स्तर कम होना योनि के सूखेपन का मुख्य कारण है। बच्चे के जन्म के बाद स्तनपान कराकर इस एस्ट्रोजन के स्तर को कम किया जा सकता है। कुछ प्रकार के कैंसर उपचार और कीमोथेरेपी से गुजरने पर एस्ट्रोजन की कमी हो सकती है। पोस्टमेनोपॉज़ल महिलाओं में रजोनिवृत्ति के दौरान हार्मोन की कमी हो सकती है।

वजन और मोटापा कम करना चाहते हैं? तोरी का यह सूप हफ्ते में दो दिन पिएं… ये है रेसिपी…

हार्मोन जन्म नियंत्रण की गोलियाँ:

हार्मोन एस्ट्रोजन और प्रोजेस्टेरोन युक्त गर्भनिरोधक गोलियों का उपयोग करते समय योनि में सूखापन हो सकता है। गर्भनिरोधक गोलियां गर्भाशय द्वारा उत्पादित टेस्टोस्टेरोन की मात्रा को कम करके इसका कारण बनती हैं। यही कारण है कि योनि में सूखापन आ जाता है।

समय पर बिना निकाले मल को दबा दिया जाए तो क्या-क्या समस्याएं हो सकती हैं…

नशीली दवाओं के प्रयोग:

कुछ प्रकार की दवाएं भी हमारे जननांगों में सूखापन पैदा कर सकती हैं। गर्भाशय फाइब्रॉएड के खिलाफ एस्ट्रोजन एंटी क्रीम का उपयोग भी जननांग क्षेत्र में सूखापन का कारण बनता है।

एंटी-डिप्रेसेंट जैसी दवाएं भी योनि में सूखापन पैदा कर सकती हैं।

इन सभी फलों को खाने से पहले त्वचा को खरोंचना नहीं चाहिए… क्या आप जानते हैं क्यों?

सर्दियों में जननांगों के रूखेपन से कैसे निपटें:

  • सेक्स करते समय पर्याप्त प्री-स्पोर्ट्स में शामिल होना आवश्यक है।
  • लिक्विड मॉइस्चराइजर का इस्तेमाल करें।
  • एस्ट्रोजन क्रीम का इस्तेमाल किया जा सकता है।
  • जननांग क्षेत्र को बार-बार धोने से बचें।
  • सुगंधित साबुन या लोशन से बचें।
  • सूती अंडरवियर पहनें।
  • ऐसे खाद्य पदार्थ खाएं जिनमें प्राकृतिक रूप से फाइटोएस्ट्रोजेन हों जैसे सोया, नट्स, बीज और टोफू।
  • धूम्रपान में आपके एस्ट्रोजन के स्तर को कम करने की क्षमता भी होती है। इसलिए धूम्रपान से बचें।

Source link